ना में अबला हूँ ना में बेचारी हूँ में आज की किनारी हूँ छात्रा रेहाना बानो…

0
18

उत्तर प्रदेश: जनपद सीतापुर की तहसील महमूदाबाद मे महिला दिवस के अवसर पर पं० संतोषी लाल शुक्ल मेमोरियल इंटर कॉलेज में समाज में नारी की भूमिका नामक गोष्ठी पर छात्र-छात्राओं नेअपने विचार रखें जिसमें छात्रा रेहाना बानो ने बताया कि न अबला न बेचारी हूं, मैं आज की किनारी हूं!कम करके मुझको मत आंको ,मैं सारे जग भारी हूं! इसी क्रम में कक्षा 11 की छात्रा साधना वर्मा ने बताया कि हजारो फूल चाहिए एक माला बनाने के लिए,हजारों बूंद चाहिए एक समुद्र बनाने के लिए ,पर एक स्त्री अकेली ही काफी है घर को स्वर्ग बनाने के लिए ! बहन शुभी तिवारी ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि राम मंदिर तो बन ही रहा है ,रामराज्य बनाया जाए तो अच्छा होगा। जो करे खिलवाड़ बेटियों की आबरू से, उन दरिंदों को जिंदा जलाया जाए तो अच्छा होगा। जो बचाए इन दरिंदों को, उन पापियों को भी खींच कर बाहर लाया जाए तो अच्छा होगा इसके साथ ही नारी के साथ हो रहे अपनी अप्रिय घटनाओं से दुखी होकर छात्रा ने कहा कि खून के बदले खून होना चाहिए संविधान में एक नया कानून होना चाहिए बचना नहीं चाहिए एक भी दरिंदा हिंदुस्तान में भारत की हर बेटी के दिल में सुकून होना चाहिए सफल गोष्टी में दो दर्जन से अधिक छात्र-छात्राओं ने अपने विचार रखे कॉलेज के शिक्षक देवेंद्र वर्मा ने संचालन किया कॉलेज के प्रधानाचार्य राजेश कुमार शुक्ल ने सभी विद्यार्थियों को अच्छे प्रदर्शन की प्रशंसा की गोष गोष्ठी के अवसर पर सीनियर वर्ग के सभी छात्र-छात्राएं सहित शिक्षक अंशुल अवस्थी,अमृतांशु मिश्रा, अरविंद वर्मा, नरेंद्र वर्मा,नितेश शुक्ला आदि उपस्थित रहे।
रिपोर्ट :शुभम पटेल सीतापुर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here